Pandit Shivanand Guruji Trimbakeshwar

About Pandit Shivanand Guruji

Shivanand Guruji lives in Trimbakeshwar Nashik, for 50 years. Guruji has an experience of 30+ years. Being Kaal Sarp Pooja experts Guruji have develop expertises in conducting All Trimbakeshwar Pooja as Guruji has perfromed more than 12000+ Kaalsarp Shanti Pooja’s till date and given 100% satisfaction to all Yajmans, and all the Clients(Yajman) get outstanding results immediatly after performing shanti or Pooja Vidhi.

त्र्यंबकेश्वर में पूजा करने के लिए और कुंडली मुफ्त में जांचने के लिए संपर्क करे

Pooja We Do!

Kalsarp Puja

The Special Shradh Puja on Shradh Amavasya Day or Sarva Pitri Amavasya Day offered by those who suffer from this dosha helps to calm the malefic effects of the yoga and briing about auspicious changes.

Rudra Abhishek Puja

Rudrabhishek puja is a supreme ritual. It is considered to be one of the purest rituals in Hinduism. Rudrabhishek puja is performed by giving a sacred bath to Lord Shiva along with flowers and the holy puja materials.

Mahamritunjaya Jaap Puja

Maha Mrityunjaya mantra Puja was formulated by Shukracharya who is considered to be the Guru of Rakshas (demons). The mantra is in praise of Lord Shiva.

Navgrah Puja

नवग्रहों की पूजा कैसे की जाती है? इसे सुनें नवग्रह-पूजन विधि- नवग्रह को पूजने के लिये सबसे पहले ग्रहों का आह्वान करें। उसके बाद उनकी स्थापना करें। फिर अपने बाएं हाथ में अक्षत लेकर मंत्रोच्चारण करते हुए दाएं हाथ से अक्षत अर्पित करते हुए ग्रहों का आह्वान किया जाता है। इस प्रकार सभी ग्रहों का आह्वान करके उनकी स्थापना की जाती है।

Mangaldosh Puja

मंगल यंत्र पूजन का भी एक उपाय है परंतु यह विशेष परिस्थिति में किया जाता है। देरी से विवाह, संतान उत्पन्न की समस्या, तलाक, दाम्पत्य सुख में कमी एवं कोर्ट केस इत्या‍दि के समय ही मंगल यंत्र पूजन का विधान है। भात पूजा के समय भी यह कार्य किया जा सकता है। इससे दाम्पत्य जीवन में सुख की प्राप्ति होती है और संतान सुख मिलता है।

Narayan Nagbali Puja

प्रेतयोनी से होने वाली पीड़ा दूर करने के लिए नारायणबलि की जाती है। परिवार के किसी सदस्य की आकस्मिक मृत्यु हुई हो। आत्महत्या, पानी में डूबने से, आग में जलने से, दुर्घटना में मृत्यु होने से ऐसा दोष उत्पन्न होता है। शास्त्रों में पितृदोष निवारण के लिए नारायणबलि-नागबलि कर्म करने का विधान है।

Kalsarp Puja Trimbakeshwar

Why do we do Kalsarp pooja?
Remedy for Kal Sarp Yog:
The Special Shradh Puja on Shradh Amavasya Day or Sarva Pitri Amavasya Day offered by those who suffer from this dosha helps to calm the malefic effects of the yoga and briing about auspicious changes.

Kaal Sarp Puja Procedure
This Pooja is done on a single day. It takes 2 hours to finish this Vidhi or Pooja. It is necessary to give food to the needy. Put Ganapati, Matruka Pujan, 1 Gold Nag, 1 Siver Murti of Rahu, 1 silver Murti of Kaal and worship it.

Book Kalsarp Puja with Pandit Shivanand Guruji